पचमेल...यानि विविध... जान-पहचान का अड्डा...पर आपका बहुत-बहुत स्वागत है.

Monday, 12 January 2009

ऊर्जावान टीम में ऐसे फैली `ऊर्जा´

दीपावली-नववर्ष पर शुभकामनाओं के साथ ही मिठाइयों के आदान-प्रदान की परंपरा भी है। श्रीगंगानगर एडिशन में दीपावली-नववर्ष की शुभकामनाओं को संपादक कीर्ति राणा ने अपनी संपादकीय टीम के साथ अनूठे तरीके से सेलीब्रेट किया। `अहा! जिंदगी´ के संपादक श्री यशवंत व्यास से अनुरोध किया कि हमारी संपादकीय टीम के लिए किताबों के सेट उपलब्ध कराएं। उन्होंने इस उपहार शैली को प्रोत्साहित करने में तत्परता दिखाई और लागत मूल्य पर 30 सेट का इंतजाम करा किया। इस तरह श्रीगंगानगर संपादकीय टीम को `अहा! जिंदगी´ द्वारा पांचवे वर्ष में प्रवेश पर निकाले गए किताबों के सेट `ऊर्जा´ उपहार में दिए जा सके। इस गिफ्ट को अपने लिए बेशकीमती उपहार बताते हुए टीम के साथियों की प्रतिक्रिया थी-यह सेट हम खरीदना तो चाहते थे लेकिन मूल्य अधिक होने से हिम्मत नहीं कर पा रहे थे।

5 comments:

  1. हिन्दी ब्लॉग जगत में आपका हार्दिक स्वागत है, खूब लिखें, नियमित लिखें, शुभकामनायें… एक अर्ज है कि कृपया वर्ड वेरिफ़िकेशन हटा दें फ़िलहाल यह अनावश्यक है… धन्यवाद

    ReplyDelete
  2. स्वागत है आपका, लिखते रहें।

    ReplyDelete
  3. बहुत सुंदर...आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  4. कीर्ति राणा जी

    उदयपुर से आप गंगानगर गन्‍नों के शहर में जा बसे। ब्‍लाग जगत के कारण आप से मुलाकात होती रहेगी। शुभकामनाएं।

    अजित गुप्‍ता

    ReplyDelete
  5. ब्लोगिंग की दुनिया में आपका स्वागत है. मेरी कामना है की आपके शब्दों को नई ऊंचाइयां और नए व गहरे अर्थ मिलें और विद्वज्जगत में उनका सम्मान हो.
    कभी समय निकाल कर मेरे ब्लॉग पर एक नज़र डालने का कष्ट करें.
    http://www.hindi-nikash.blogspot.com

    सादर-
    आनंदकृष्ण, जबलपुर.

    ReplyDelete